जीवन के नायाब अनुभव .....

Trip To Spiti Valley - Chandigarh To Narkanda | स्पिति वैली यात्रा - चंडीगढ़ से नारकंडा

No comments

स्पिति वैली यात्रा - 01 जून 2019 - चंडीगढ़ से नारकंडा


Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti

रात को नींद बहुत अच्छी आई और सुबह लगभग छ बजे के आस पास हम उठ गए l चाय पी और फिर नहा-धो कर सुबह के करीबन सात बजे के आस पास हम तैयार हो गए l होटल से निकलने से पहले रजत, राजेश और अश्वनी (टीम अश्वनी) से फ़ोन से बात हुई तो पता लगा की उनकी ट्रेन बिलकुल सही समय पर चल रही है और वो लोग साढ़े सात बजे तक चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन पहुँच जाएँगे l विक्रांत और मैं भी बाइक पर सामान बाँध कर होटल से लगभग साढ़े सात बजे रवाना हो गए l

कुछ ही देर में हम कालका-शिमला हाईवे पर थे l हाईवे पर पहुँचने के बाद हमने टीम अश्वनी से संपर्क किया तो पता चला की टीम अश्वनी भी इसी हाईवे पर पहुँच चुकी थी l टीम अश्वनी एक सफ़ेद इनोवा मे ड्राईवर सोनू के साथ थी और कुछ ही देर बाद हम सब हाईवे पर एक जगह पर मिल गए l पराये देस में अपनों के साथ मिलना-जुलना अलग ही मज़ा देता है, दुआ-सलाम के बाद हम सबने निर्णय लिया की किसी होटल में चल कर चाय-नाश्ता कर लिया जाए l विक्रांत और मैं तो होटल से ही चाय पी कर और नहा-धो कर निकले थे लेकिन टीम अश्वनी ने सुबह की चाय तक भी नहीं पी थी l यूँ तो चाय काफी साधारण सा पेय प्रतीत होता है पर कुछ लोगों के लिए चाय नहीं तो दिन की शुरुआत नहीं l

सुबह के करीबन साढ़े-आठ बजे हम जिब्ली स्तिथ एक होटल पहुँचे और वहाँ हमने चाय ली और अश्वनी के घर से लाये हुए शानदार पराँठों का लुत्फ़ उठाया l चाय ने अपना काम किया और टीम अश्वनी कुछ ही समय में हाथ-मुँह धो कर तरों-ताज़ा हो गयी l टीम अश्वनी को नारकंडा में हाटू होम स्टे में रुकना था इसीलिए विक्रांत ने भी कमरे के लिए फ़ोन से हाटू होम स्टे से संपर्क किया और हाटू होम स्टे हमे एक और कमरा देने को राज़ी हो गया l चाय-नाश्ते के बाद लगभग दस बजे हम सब नारकंडा के लिए निकल गए l चंडीगढ़ से नारकंडा की दुरी है लगभग 175 किलोमीटर इसीलिए हमे कोई ज्यादा जल्दी नहीं थी और हम रास्ते का आनंद उठाते हुए ही पहुँचना चाहते थे l

परवानु के बाद पहाड़ों के रास्ते चालू हो गए, धुप तो तेज़ थी पर पिछले दिन हमारी जयपुर से चंडीगढ़ की यात्रा की तुलना में गर्मी बहुत कम थी इसीलिए हमे काफी राहत महसूस हो रही थी l यूँ तो हम सब बिलकुल साथ चलना चाह रहे थे लेकिन एक चौपहिया और दोपहिया पहाड़ी रास्तों में साथ नहीं चल पाते क्योंकि जाम की स्तिथि में बाइक तो कहीं से भी निकल जाती है परन्तु गाडी को निकलने में समय लग ही जाता है l धर्मपुर, सोलन होते हुए लगभग बारह बजे विक्रांत और मैं शिमला पहुँच गए और शिमला बाईपास होते हुए नारकंडा की ओर निकल गए l टीम अश्वनी हमारे कुछ ही किलोमीटर पीछे थी l 

शिमला से निकलने के बाद हरियाली बढ़ गयी l रास्ते में कुछ पहाड़ ऐसे देखने को मिले कि लोगों ने पहाड़ के बिलकुल शिखर तक घर बना रखे है और ऐसे घर देख कर विचार आता था कि आखिर इतनी ऊँचाई पर घर कैसे बनाया गया होगा और वहाँ इतनी ऊपर रहने में कैसा लगता होगा l कुफरी पहुँच कर और वहाँ की जबरदस्त हरियाली देख कर मन प्रसन्न हो गया, चारों ओर हरे हरे ऊँचे ऊँचे पेड़ और बीच में बस एक सड़क l

विक्रांत और मैं कुछ देर कुफरी के नजारों का आनंद लेते रहे और आगे की यात्रा के लिए टीम अश्वनी का इन्तिज़ार करने लगे l इसी बीच उनका फ़ोन आया और उन्होंने हमे खाने के लिए पतिंगली स्तिथ शेरे-पंजाब ढाबे पर बुलाया जो की हम पीछे छोड़ आये थे l ड्राईवर सोनू को पता था की हमे क्या अच्छा लगेगा इसीलिए उसने उसी हिसाब से ढाबे का चुनाव किया था l यक़ीनन ये चुनाव अच्छा था, खाना बहुत ही शानदार था l उस ढाबे की लोकेशन बहुत ही अच्छी थी, उसके पीछे हरियाली से आच्छादित खुबसूरत वैली थी इसीलिए हम सबने बाहर ही बैठ कर खाना खाया l

खाना खाने के बाद हम सब एक बार फिर नारकंडा के लिए रवाना हो गए l जैसे जैसे हम आगे बढ़ते रहे, रास्ते की खूबसूरती बढती चली गयी l पहाड़ों में काफी जगह पर सेव के बाग़ थे और उन सेव के पेड़ों को किसी भी नुक्सान के होने की आशंका में अच्छी तरह ढका गया था, ये काफी अलहदा नज़ारा था l बरोग, ठियोग, चंडी होते हुए, रुकते-रुकाते, फ़ोटोज़ लेते हुए हम शाम के लगभग पाँच बजे हाटू होम स्टे पहुँच गए l ये होम स्टे नारकंडा मुख्य कस्बे से कुछ दूर और अलग जा कर बना हुआ था l   

हाटू होम स्टे पहुँच कर जब हमने हमारे कमरे के लिए पूंछा तो अंकल जी साफ़ साफ़ मुकर गए l विक्रांत ने अंकल को याद दिलाया की आज सुबह ही आपने फ़ोन पर कमरे के लिए हामी भरी थी पर अंकल जी मानने को तैयार नहीं हुए l अब विक्रांत और मेरी, रजत, राजेश, अश्वनी के साथ रुकने की योजना धूमिल होती दिखाई दे रही थी, इतने में ही रजत, राजेश और अश्वनी भी वहाँ पहुँच गए l आखिरकार कुछ देर और मिन्नतें करने के बाद अंकल हमे कमरा देने को राज़ी हो गए लेकिन उन्होंने विक्रांत और मुझे नीचे का कमरा दिया और रजत, राजेश,अश्वनी का कमरा ऊपर फर्स्ट फ्लोर पर था l हमारे कमरों के सामने चारों ओर पहाड़ ही पहाड़ थे और उन पहाड़ों पर हरियाली से आच्छादित पेड़ ही पेड़ l रजत, राजेश और अश्वनी के कमरे के आगे बड़ी बालकानी थी जहाँ आप बैठे बैठे इन खुबसूरत नजारों में कहीं खो सकते थे l 

कमरों में सामान ज़माने के बाद चाय पी, हाथ-मुँह धोये, कपडे बदले और फिर पैदल पैदल ही हम एक कच्ची सड़क पर उन बेहद हरियाले रास्तों पर घुमने निकल गए l एक पहाड़ की खुबसूरत तलहटी में हम सबने खूब फ़ोटोज़ ली l लौटते वक्त हम सब एक बाँसुरी की धुन सुन कर ठिठक गए l पास ही स्तिथ एक रिसोर्ट के टेंट में रुका हुआ एक बाइकर बाँसुरी पर राग यमन बजा रहा था जिसको सुन कर हम सब मंत्रमुग्ध हो गए थे l रजत ने उसका पूरा विडियो भी बनाया l 

कुछ देर घूम कर, हाटू होम स्टे पहुँच कर हम सबने बालकानी में महफ़िल सजा ली और काफी देर तक हम सब बातें करते रहे और गाने सुनते रहे l हमे हमारे गर्म कपडे पहनने पड़े क्योंकि सर्दी बढ़ गयी थी l रात में लगभग नौ बजे हम अंकल के पास खाना खाने गए l चूँकि ये एक होम स्टे था इसीलिए खाना बिलकुल घर जैसा और काफी अच्छा था l खाने के बाद हम कुछ देर टहले, बातें की और फिर लगभग साढ़े दस बजे अपने अपने कमरों में जा कर सो गए l

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
कालका-शिमला हाईवे

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
सुहानी सुबह

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
चाय-नाश्ता @ निक्की ढाबा

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
हम पाँच

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
शिमला की ओर

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
सोलन के पास

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
पीछे गिर न जाऊं !

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
शिमला की ओर

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
शिमला की ओर

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
शानदार सड़क

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
शिमला बाईपास

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
शिमला

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
 मंदिर

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
पहाड़ पर बस्ती

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
कुफरी

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
कुफरी की जबरदस्त हरियाली

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
कुफरी

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
कुफरी टैक्सी स्टैंड

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
शेरे-पंजाब ढाबे से दिखने वाला विहंगम दृश्य

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
ढाबे का स्वादिस्ट खाना 

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
ढके हुए सेव के पेड़

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
खुबसूरत रास्ते

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
मेरी धन्नो

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
  कुछ देर आराम कर लें !

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
कितनी सुन्दर जगह पर घर है !

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
ढके हुए सेव के पेड़ 

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
नारकंडा की ओर

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
नारकंडा की ओर

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
हाटू होम स्टे के बाहर का दृश्य

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
हाटू होम स्टे में लगा चैरी का पेड़

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
हाटू होम स्टे को आती कच्ची सड़क

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
रजत, राजेश और अश्वनी के कमरे से दिखने वाला विहंगम दृश्य

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
रजत

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
इन्ही में से एक टेंट से बाँसुरी की आवाज़ आ रही थी

Spiti Valley Trip, Bike trip to spiti
हाटू होम स्टे

स्पिति वैली यात्रा का सम्पूर्ण वृतांत
स्पिति वैली यात्रा - प्रस्तावना
स्पिति वैली यात्रा - जयपुर से चंडीगढ़
स्पिति वैली यात्रा - चंडीगढ़ से नारकंडा
स्पिति वैली यात्रा - नारकंडा से कल्पा
स्पिति वैली यात्रा - कल्पा से ताबो
........... to be continued



No comments :

Post a Comment

Popular Posts